Monday , March 1 2021
Breaking News

आरा-सासाराम स्टेट हाईवे पर हादसा बाइक सवार पिता और पुत्री की मौत

पीरो15 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

नोनार मोड़ पर टूटी पड़ी बाइक।

  • नोनार मोड़ के समीप बस-बाइक में हुई सीधी टक्कर, पत्नी जख्मी
  • गर्भवती पत्नी का पीरो में इलाज कराने के बाद घर लौट रहा था जयप्रकाश

आरा-सासाराम स्टेट हाइवे पर नोनार मोड़ के समीप शनिवार की सुबह बस और बाइक की आमने-सामने भीषण टक्कर हो गई। जिसमें बाइक कई टुकड़ो में बिखर गया। इस घटना में एक बच्ची सहित दो लोगो की मौत हो गई। जबकि एक महिला गंभीर जख्मी हो गई। मृतक जयप्रकाश उर्फ गोरख यादव (27 वर्ष) और उसकी पुत्री संध्या कुमारी(ढाई वर्ष) है। जो हसनबाजार ओपी के नारायणपुर गांव निवासी हैं। इस घटना में जयप्रकाश की पत्नी मानती देवी गंभीर जख्मी हो गई। जिसका इलाज पीरो सीएचसी में कराए जाने के बाद आरा रेफर कर दिया गया। मानती देवी का इलाज आरा में कराया जा रहा है। उसे सिर में गंभीर चोट है। बताया जाता है मानती गर्भवती थी। वह पीरो में इलाज कराने के बाद अपनी पुत्री और पति के साथ बाइक पर सवार होकर गांव नारायणपुर जा रही थी। तभी, नोनार मोड़ के समीप सासाराम की ओर से तेज गति से आ रही महाराणा नामक बस से आमने-सामने की टक्कर हो गई। टक्कर इतनी भीषण थी कि जयप्रकाश की मौके पर मौत हो गई। जबकि बच्ची उछलकर हाइवे के किनारे स्थित पानी और कीचड़ में धंस गई। मानती देवी और बच्ची गंभीर जख्मी हो गई। ग्रामीणों ने बच्ची को कीचड़ से निकाला। पहचान के बाद मृतक के घर पर इसकी सूचना दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस, स्थानीय ग्रामीणों और सामाजिक कार्यकर्ता रवि यादव के सहयोग से जख्मी लोगो को अस्पताल पहुंचाया गया। जिसमें बच्ची संध्या पीरो अस्पताल आते-आते रास्ते में दम तोड़ दी। मानती को गंभीरावस्था में आरा भेजा गया।

हादसे के बाद गुस्सए ग्रामीणों ने बस का पीछा कर पकड़ा
इस घटना के बाद नारायणपुर के आक्रोशित ग्रामीणों ने बस का पीछा किया। जहां बस को पीरो बस स्टैंड के समीप पकड़ा गया। लेकिन चालक भागने में सफल रहा।पुलिस ने बस को अपने कब्जे में ले लिया है। इसके बाद आक्रोशित ग्रामीण मुआवजे की मांग को लेकर नारायणपुर मोड़ के समीप स्टेट हाइवे जाम के लिए पहुंचे। वहां मौके पर पहुंचे अंचलाधिकारी चन्द्रशेखर और थानाध्यक्ष ने लोगो को समझाकर मुआवजा की आश्वासन देकर हटाया। मृतक तीन भाईयो में माझिल था। जिसकी एक ही संतान संध्या थी। युवा पुत्र और पौत्री की मौत के बाद मृतक के घर में कोहराम मच गया। घर के सामने ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। मां रमावती देवी और पिता लालबाबू यादव का रो रोकर बुरा हाल हो गया।

मृतक जयप्रकाश और उसकी बच्ची संध्या (फाइल फोटो)।

मृतक जयप्रकाश और उसकी बच्ची संध्या (फाइल फोटो)।

आधे घंटे बाद मिली जख्मी बच्ची
बस की ठोकर के बाद मां की गोद से छिटककर बच्ची संध्या सड़क के किनारे स्थित कीचड़ और पानी भरे गड्ढे में गिर गई थी। उसपर किसी की नजर नहीं थी। आधे घंटे बाद जब परिजन पहुंचे तो बच्ची के संबंध में पूछताछ करने लगे। तब जाकर बच्ची की खोजबीन शुरु हुई। किसी राहगीर की नजर पानी और कीचड़ में डूबी बच्ची को देखा गया।

नोनार मोड़ है खतरनाक
नोनार मोड़ पर हर साल भयंकर हादसा होते रहता है।यहां दो ओर से गांवों से आने वाली सड़क है बीच से स्टेट हाइवे पास करता है। जिससे हमेशा लोगो की भीड़ रहती है। हादसे को देखते हुए पूर्व में यहां स्पीड ब्रेकर बनाया गया था। जिससे वाहन नियंत्रित होकर चलती थी। यहां स्पीड ब्रेकर हैं।

सौंपा गया चेक

घटना के चार घंटे बाद ही मृतक की मां रमावती देवी को आपदा राहत कोष की आठ लाख रुपये की चेक राशि सौंप दिया गया। अंचलाधिकारी चन्द्रशेखर सिंह, सामाजिक कार्यकर्ता रवि यादव सहित अन्य थे।


Source link

About divyanshuaman123

Check Also

स्वच्छता की पहल: मटके में गीले कचरे से घर में ही तैयार कर सकते हैं जैविक खाद

स्वच्छता की पहल: मटके में गीले कचरे से घर में ही तैयार कर सकते हैं जैविक खाद

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप मुजफ्फरपुरएक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *