Monday , March 1 2021
Breaking News

काेराेना के संक्रमण से बचाता है मास्क, भीड़ भाड़ वाली जगहों पर इसके बगैर नहीं जाएं, खेल संघ के पदाधिकारियों ने लोगों को प्रेरित करने की ली शपथ

मोतिहारी11 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

जिले में दैनिक भास्कर की अभी मास्क ही वैक्सीन है मुहिम लोगों के व्यवहार में परिवर्तन लाने में काफी सहायक साबित हो रही। कोरोना के जारी प्रकोप के बीच उनका कहना है, लोगों को मास्क पहनने के लिए प्रेरित करने का यह अभियान कठिन समय में बड़ी व आवश्यक पहल है।

रविवार को खेल संघ के पदाधिकारियों ने मुहिम को अपना समर्थन देकर लोगों को मास्क पहनने के लिए प्रेरित करने का संकल्प लिया। बातचीत में पदाधिकारियों ने बताया कि मास्क आपको संक्रमित होने से और दूसरों को भी संक्रमित करने से बचाता है। इसलिए बाजार में कोरोना का वैक्सीन नहीं आ जाने तक घर से निकलने पर मास्क का उपयोग हमेशा करें।

मास्क पहनने व हाथ धोने से संक्रमण की आशंका हो जाती है कम

कोरोना को लेकर लोगों को सजग होने की जरूरत है। एक के होने पर परिवार के अन्य सदस्य भी संक्रमित हो जाते हैं। कोरोना से बचाव के लिए तत्काल मास्क ही वैक्सीन है। संक्रमित होने से और दूसरों को संक्रमित करने से बचाता है।
प्रभाकर जायसवाल, सचिव, इस्ट चंपारण डिस्ट्रिक्ट फुटबॉल एसोसिएशन

कोरोना से लड़ने में मास्क काफी महत्वपूर्ण है। इसका प्रकोप बना हुआ है। बावजूद लोग अभी भी बिना मास्क के चल रहें। सभी को मास्क पहनने को अपनी आदत में शामिल करने की जरुरत है। मास्क पहनने के साथ एक-दूसरे के संपर्क में कम आएं, यानी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।
अप्पू कुमार, संयुक्त सचिव, जिला तलवारबाजी संघ

कोरोना संक्रमण से बचने के लिए लोगों को मास्क का उपयोग करना बेहद जरूरी है। घर से मास्क पहनकर ही निकलें। अभी वैक्सीन नहीं निकला है। मास्क के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी जरूरी है।
अरविंद कुमार, सचिव, जिला एथलेटिक्स संघ, मोतिहारी

दैनिक भास्कर का अभियान सराहनीय है। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए मास्क पहनना बहुत आवश्यक है। सरकार भी इस पर खास जोर दे रही। भीड़ वाले जगहों पर मास्क लगाए बगैर ना जाएं। खिलाड़ी अभ्यास के क्रम में सोशल डिस्टेंसिंग के पालन में कोताही नहीं बरतें।
शिवाजी, अध्यक्ष, इस्ट चंपारण ताइक्वांडो एसोसिएशन


Source link

About divyanshuaman123

Check Also

एक साल बाद प्राइमरी स्कूल खुले: बिहार के इक्के-दुक्के स्कूलों में ही दिखी रौनक; मैनपुरा मध्य विद्यालय में बच्चों का स्वागत

एक साल बाद प्राइमरी स्कूल खुले: बिहार के इक्के-दुक्के स्कूलों में ही दिखी रौनक; मैनपुरा मध्य विद्यालय में बच्चों का स्वागत

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप 16 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *