Sunday , April 18 2021
Breaking News

जिले में कोरोना मरीजों के लिए 900 बेड के 5 डेडिकेटेड अस्पताल, अब तक 1023 संक्रमित मरीजों का हुआ इलाज

मुजफ्फरपुर14 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • लगातार मरीजों की संख्या में कमी, पताही कोविड अस्पताल में पटना समेत अन्य जिलों से रेफर होकर आ रहे

कोरोना मरीजों की संख्या जिले में लगातार कम हो रही है। वही संक्रमित भर्ती हो रहे हैं, जिन्हें आईसीयू या वेंटिलेटर की जरूरत है। डाॅक्टराें की मानें तो जिले के पॉजिटिविटी रेट में काफी कमी आई है। जिन अस्पतालों को डेडीकेटेड अस्पताल बनाया गया है, वहां भर्ती मरीजों की संख्या बहुत कम है। तुर्की और ग्लोकल अस्पताल में एक भी मरीज नहीं, जबकि पताही स्थित डीआरडीओ के विशेष अस्पताल में मात्र 50 मरीज भर्ती हैं। यहां 500 बेड की व्यवस्था है।

इधर, एसकेएमसीएच में भी 100 बेड की सुविधा है, लेकिन 11 मरीज भर्ती हैं। सदर अस्पताल में एमसीएच भवन को कोविड अस्पताल के रूप में चिह्नित किया गया था, लेकिन मरीजों की संख्या कम होने के कारण उसे मुक्त कर दिया गया। अब वहां फिर से एमसीएच का ओपीडी शुरू हो गया है।

पताही में अब तक 140 मरीज का इलाज हो चुका

पताही हवाई अड्डे में डीआरडीओ की ओर से बनाए गए डेडीकेटेड कोविड अस्पताल में 500 बेड की व्यवस्था है। यहां पटना, मधुबनी, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, दरभंगा आदि स्थानों से रेफर होकर मरीज आ रहे हैं। अस्पताल में अब तक 140 मरीज का इलाज हो चुका है। वर्तमान में यहां 20 मरीज वेंटिलेटर पर हैं।

कोरोना अस्पताल… आंकड़ाें में जानें पूरी जानकारी

  • 1. पताही डेडिकेट अस्पताल- 500 बेड, भर्ती-50, अब तक 159 का इलाज, 8 मौतें
  • 2. एसकेएमसीएच-100 बेड, भर्ती-11, अब तक -250 का इलाज, 27 मौतें
  • 3. तुर्की कोविड अस्पताल- 100 बेड, भर्ती-00, अब तक 524 का इलाज, मौतें-0
  • 4. ग्लोकल कोविड अस्पताल- 100 बेड, भर्ती-0, अब तक इलाज-90, मौतें-0
  • 5. एमसीएच अस्पताल- बेड- 100, भर्ती-0, अब तक इलाज-0, मौत-0

जिले के 18 मरीजों की मौत पटना में हो चुकी है

  • अब तक जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीज- 8657
  • कुल एक्टिव केस-481
  • अब तक जिले में संदिग्ध लोगों की जांच- 274578
  • सभी 5 अस्पतालों में अब तक कुल मरीजों का इलाज-1023
  • कुल मौतें- 53 {रिकवरी रेट 94 प्रतिशत {होम आइसोलेशन-400
  • वर्तमान में भर्ती मरीज- 61

रिकवरी रेट 94 फीसदी, अब बिना लक्षण के संक्रमित

नोडल अधिकारी डॉ. सीके दास के अनुसार, जिले का रिकवरी रेट 94 प्रतिशत है। उन्होंने बताया, वर्तमान में जो भी मरीज संक्रमित मिल रहे हैं, वह बिना लक्षण वाले हैं। इस कारण वे जल्द स्वस्थ हो जाते हैं। अस्पताल में वही लोग भर्ती हो रहे हैं, जो गंभीर हैं। ज्यादातर मरीज आइसोलेशन में रहना पसंद करते हैं।


Source link

About divyanshuaman123

Check Also

बिहार: बेकाबू कोरोना को काबू करने के लिए सरकार ने तैयार किया ब्लूप्रिंट, सीएम नीतीश कुमार थोड़ी देर में करेंगे एलान

बिहार: बेकाबू कोरोना को काबू करने के लिए सरकार ने तैयार किया ब्लूप्रिंट, सीएम नीतीश कुमार थोड़ी देर में करेंगे एलान

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, पटना Published by: प्रशांत कुमार Updated Sun, 18 Apr 2021 10:54 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *