Sunday , April 18 2021
Breaking News

दुर्गा मंदिर हड़ियापट्टी में कलश स्थापित कर 101 की जगह इस बार 51 कन्याओं की ही होगी पूजा

भागलपुर5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • प्रतिमा स्थापित करने पर पूजा समितियां कल की बैठक के बाद लेंगी निर्णय

इस बार अधिकांश जगहों पर मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित नहीं होगी। अंतिम निर्णय पूजा समितियां की मंगलवार काे लेंगी। मंगलवार काे सदर एसडीओ के साथ टाउन हॉल में होने वाली बैठक में प्रतिमा स्थापित करने और सरकारी गाइड लाइन पर चर्चा होगी। प्रशासन के इस कड़े गाइड लाइन से कई पूजा समितियां प्रतिमा स्थापित करने से पीछे हटने लगी हैं।

दुर्गापूजा समिति हड़ियापट्टी के मुख्य संरक्षक सह महासमिति के महासचिव जयनंदन आचार्य ने बताया कि इस बार हड़ियापट्टी में कलश स्थापित कर 101 कन्याओं का पूजा होती थी, इस बार 51 कन्याओं की ही पूजा होगी। प्रतिमा स्थापित नहीं करने का निर्णय लिया गया है।

समितियों से बैठक में भाग लेने की अपील

महासचिव ने बताया कि पूजा समिति व मेढ़पति से मंगलवार को एसडीओ के साथ होने वाली बैठक में भाग लेने की अपील की है। दुर्गाबाड़ी मशाकचक, दुर्गामंदिर मानिकपुर, लहेरी टोला, हड़ियापट्टी दुर्गा मंदिर में प्रतिमा स्थापित नहीं की जाएगी। लहेरीटोला प्राचीन दुर्गा मंदिर प्रतिमा स्थापित नहीं करने का निर्णय लिया है।

मोहद्दीनगर में पंडाल निर्माण नहीं होगा

मोहद्दीनगर दुर्गा मंदिर में रविवार को समिति के पदाधिकारियों की बैठक राकेश रंजन केसरी की अध्यक्षता में हुई। निर्णय लिया गया कि सरकार के आदेश पर ही यहां प्रतिमा स्थापित होगी, अन्यथा कलश की पूजा होगी। सांस्कृतिक कार्यक्रम, भव्य पंडाल निर्माण नहीं होगा।

बैठक में सरकार की गाइड लाइन के पालन का अनुरोध

पर्व-त्योहार को लेकर रविवार को इशाकचक थाने में शांति समिति की बैठक हुई। थानेदार संजय कुमार सुधांशु ने बैठक को वर्चुअल तरीके से संबोधित किया। जमादार अजय यादव ने सदस्यों ने कहा कि सरकार की जारी गाइड लाइन का हर हाल में पालन करना होगा। बैठक में सेंट्रल मुहर्रम कमेटी के सह संयोजक महबूब आलम और प्रो. एजाज अली रोज, दुर्गा पूजा महासमिति के संरक्षक भगवान यादव, शंकर राय रामाशीष मंडल अन्य सदस्य मौजूद रहे।


Source link

About divyanshuaman123

Check Also

फेल हो रही सरकार की व्यवस्था: राजधानी में मात्र 543 बेड, इसमें भी 90 % फुल; सरकारी से 2 गुणा अधिक प्राइवेट में बेड लेकिन इलाज का रेट हाई

फेल हो रही सरकार की व्यवस्था: राजधानी में मात्र 543 बेड, इसमें भी 90 % फुल; सरकारी से 2 गुणा अधिक प्राइवेट में बेड लेकिन इलाज का रेट हाई

Hindi News Local Bihar Gouvernement Management For Corona Patient In Hospitals Critical; Bed Not Available …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *