Thursday , April 15 2021
Breaking News

नारियल के बीच छिपाकर ले जा रहे थे 370 किलो गांजा, तीन गिरफ्तार

भागलपुरएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
  • गिरफ्तार गोविंद साह गांजा तस्करी के पुराने केस में था फरार

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) पटना की टीम ने मंगलवार सुबह में जीरोमाइल टोल प्लाजा के पास पंजाब नंबर की एक कंटेनर से 370 किलो गांजा जब्त किया है। इस सिलसिले में टीम ने कंटेनर के ड्राइवर समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। जब्त गांजा की कीमत करीब साढ़े 18 लाख है। डाभ (कच्चा नारियल का फल) भरे कंटेनर में गांजे की खेप को छुपाकर विशाखापत्तनम से मधुबनी ले जाया जा रहा था।

गिरफ्तार आरोपियों से इशाकचक थाने में एनसीबी की टीम पूछताछ कर रही है। एनसीबी के इंटेलिजेंस अधिकारी धीरज कुमार के नेतृत्व में टीम को सफलता मिली। टीम को चकमा देकर एक अन्य गांजा तस्कर मधुबनी के बड़ेल गांव निवासी राजेंद्र फरार हो गया है। वह स्कार्पियो से कंटेनर को एस्कॉर्ट कर रहा था। गिरफ्तार गांजा तस्कर गोविंद जनवरी 2019 में एनबीसी द्वारा जब्त 719 किलो के गांजा के मामले में फरार था।
नेपाल का मेघनाथ तस्करी का सरगना
गिरफ्तार गोविंद साह ने एनसीबी अधिकारियों को पूछताछ में बताया कि नेपाल के वीरगंज का मेघनाथ गांजा तस्करी का सरगना है। वीरगंज से सटे बिहार के जिलों में भी उसका ठिकाना है। कंटेनर से जब्त 370 किलो गांजा मेघनाथ ने ही मंगवाया था। इसके लिए गोविंद और उसके साथियों को जिम्मेदारी दी गई थी।

डाभ के लिए बहाने गोविंद ने अशोक यादव की स्कार्पियो किराए ली और विशाखापत्तनम पहुंच गया। पहले उसने डाभ की खरीदारी की और ट्रांसपोर्ट कंपनी से संपर्क कर उसे कंटेनर में बुक करवा दिया। गांजे की पैकेट को भी डाभ में छिपा दिया। इसके बाद कंटेनर मधुबनी के लिए चला। स्कॉर्पियो से राजेंद्र कंटेनर को फॉलो कर रहा था, अशोक और गोविंद कंटेनर में ड्राइवर के साथ बैठे थे।
4 राज्यों से गुजरा गांजे का खेप, पुलिस नहीं पकड़ पाई, दुमका से पीछे लगी थी एनसीबी
आंध्र प्रदेश, ओडिशा, बंगाल, झारखंड होते हुए गांजे की खेप दुमका, हंसडीहा के रास्ते बिहार की सीमा में प्रवेश किया। लेकिन उक्त राज्यों की पुलिस और चेक पोस्ट पर इसकी जांच नहीं हुई। बौंसी के भलजोर सीमा से होते हुए खेप को भागलपुर के बाइपास से होकर मधुबनी ले जाना था। एनसीबी की टीम झारखंड सीमा से ही कंटेनर के पीछे लगी थी। गाड़ी जैसे ही बाइपास पर टॉल प्लाज के पास रूकी, उसे रोक लिया और सभी को गिरफ्तार कर लिया।

एक ट्रिप पर मिलते हैं 50 हजार: गोविंद साह
गोविंद साह ने बताया कि मेघनाथ बिहार और नेपाल में गांजा का बड़ा सप्लायर है। उसके अधीन 50 से अधिक तस्कर काम करते हैं। गांजे की खरीदारी फोन पर ही मेघनाथ की थी। उसे लाने के लिए गोविंद और साथियों को विशाखापत्तनम भेजा था। गांजे को विशाखापत्तनम से मधुबनी पहुंचाने के एवज में उसे 50 हजार मिले थे। पहले भी आंध्र प्रदेश, ओडिशा, नॉर्थ-ईस्ट आदि राज्यों से गांजा लेकर आ चुका है।

सुपर फाइन क्वालिटी का है जब्त गांजा
एनसीबी अधिकारियों का कहना है कि जब्त गांजा सुपर फाइन क्वालिटी का है। बाजार में यह 5 हजार रुपए प्रति किलो बिकता है। इस तरह के गांजे की खेती ओडिशा और नॉर्थ-ईस्ट में होती है। गांजे की महक बाहर नहीं जाए, इसके लिए उसकी बेहतर तरीके से पैकिंग की गई थी।
ये हुए गिरफ्तार
1. गोविंद साह : माहथा, वार्ड-1, लदनियां, मधुबनी
2. अशोक यादव : वीरपुर हरपट्‌टी, ललमनियां, मधुबनी
3. इंदर पाल : टप्पा बिलुचपुर, हसनपुर, पलवल, हरियाणा


Source link

About divyanshuaman123

Check Also

प्रो. अरूण कुमार का बनारस में होगा दाह संस्कार: पूर्व सभापति के पार्थिव शरीर को विधान परिषद् नहीं ले जाया जाएगा, 41 सालों तक रहे थे MLC

प्रो. अरूण कुमार का बनारस में होगा दाह संस्कार: पूर्व सभापति के पार्थिव शरीर को विधान परिषद् नहीं ले जाया जाएगा, 41 सालों तक रहे थे MLC

Hindi News Local Bihar Former Legislative Council Member Arun Kumar Passes Away In Patna; Last …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *