Monday , April 19 2021
Breaking News

पारू, साहेबगंज, मीनापुर में शाम 4 बजे तक ही मतदान; तीनों विधानसभा क्षेत्र नक्सल क्षेत्र हैं घोषित

मुजफ्फरपुर13 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में जिले के पांच विधानसभा क्षेत्रों मीनापुर, पारू, साहेबगंज, कांटी और बरूराज के लिए शुक्रवार से नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो गई। 3 नवंबर को यहां चुनाव होगा। पांचों विधानसभा क्षेत्रों में कुल 14,92,586 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र घोषित होने से मीनापुर, पारू और साहेबगंज विधानसभा क्षेत्र में सुबह 7 बजे से शाम 4 बजे तक ही मतदान होगा। जबकि, कांटी व बरूराज विधानसभा क्षेत्र में शाम 6 बजे तक वोट डाले जाएंगे।

जिला निर्वाचन अधिकारी सह जिलाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने मतदान कार्यक्रम की जानकारी देते हुए बताया कि पांचों विधानसभा क्षेत्र के लिए 16 अक्टूबर तक नामांकन पत्र दाखिल किए जाएंगे। मीनापुर, कांटी, बरूराज, पारू एवं साहेबगंज विधानसभा क्षेत्र में कुल 2130 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इन केंद्रों पर 705578 महिला तथा 786962 पुरुष व 46 अन्य लोग मतदान करेंगे। दिव्यांग मतदाताओं की संख्या 10425 तथा 80 वर्ष से अधिक उम्र के मतदाताओं की संख्या 21,535 है। इसके साथ ही सेवा निर्वाचकों की संख्या 2090 है।

इन मतदाताओं को पोस्टल बैलट की सुविधा उनकी मांग के अनुसार उपलब्ध कराई जाएगी। पोस्टल बैलट की मांग किए जाने पर मतदान से पांच दिन पूर्व ही मतदाता पर्ची का वितरण शुरू हो जाएगा। लेकिन मतदाता को पर्ची के साथ एक पहचान पत्र लाकर ही मतदान करने की अनुमति रहेगी। बेला में चिह्नित पार्किंग स्थल के नहीं सूखने की स्थिति में एमआईटी में ही पूर्व की भांति पार्किंग स्थल रहेगा।

नक्सल प्रभावित बूथों पर केंद्रीय बल रहेंगे तैनात

एसएसपी जयंतकांत ने बताया कि मीनापुर, पारू व साहेबगंज विधानसभा क्षेत्र में चिह्नित 529 नक्सल प्रभावित मतदान केंद्रों पर केंद्रीय बलों की प्रतिनियुक्ति की जाएगी। हालांकि पांचों विधानसभा क्षेत्र के सभी 2130 मतदान केंद्रों पर सशस्त्र पुलिस बल के जवान तैनात रहेंगे। जिले में 12 कंपनी सीआरपीएफ के जवान पहुंच गए हैं। शांतिपूर्ण मतदान के लिए 19000 लोगों पर धारा 107 तथा 200 लोगों पर सीसीए की कार्रवाई का प्रस्ताव भेजा गया है।


Source link

About divyanshuaman123

Check Also

ऑक्सीजन पर पहरे से संकट और गहराया: निजी अस्पतालों को नहीं मिल रहे पर्याप्त सिलेंडर, प्रशासन ने ऐसे अस्पतालों को दी इलाज की अनुमति जहां व्यवस्था ही नहीं

ऑक्सीजन पर पहरे से संकट और गहराया: निजी अस्पतालों को नहीं मिल रहे पर्याप्त सिलेंडर, प्रशासन ने ऐसे अस्पतालों को दी इलाज की अनुमति जहां व्यवस्था ही नहीं

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप पटना3 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *