Monday , April 19 2021
Breaking News

फिर 32 पॉजिटिव मरीज मिले, जिले में 5688 कोरोना संक्रमित

सासाराम20 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • अपनी व औरों के प्रति बरतनी होगी जिम्मेदारी

जिले में कोरोना संक्रमण का रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रहा है। लाख कोशिशों के बावजूद कोरोना की गति रफ्तार पकड़ रही है। जिससे स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के चेहरे पर चिंता की लकीर साफ देखी जा सकती है। शनिवार को स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किए गए कोरोना रिपोर्ट में 32 नए पॉजिटिव मरीजों की पुष्टि की गई है। जिसके बाद जिले में कुल संक्रमितों की संख्या 5688 हो गई है। वहीं अबतक 5414 संक्रमित मरीज इस वैश्विक महामारी से स्वास्थ्य होकर अपने घर लौट गए है।

कोरोना संक्रमण से मौत का आंकड़ा 41 तक पहुंच गया है। सिविल सर्जन डॉ. सुधीर कुमार ने बताया कि कोरोना संक्रमण की रफ्तार में कभी तेजी तो कभी नरमी देखी जा रही है। जिले में ज्यादा से ज्यादा लोगों की जांच की जा सकते इसके लिए पीएचसी लेबल पर प्रतिदिन कैंप आयोजित कर जांच सैंपल लिए जा रहे है। इसी क्रम में शनिवार को 3896 लोगो का स्वाब सैंपल लिया गया। सीएस ने बताया कि पॉजिटिव मिले लोगो में से 233 सक्रिय केस बचे है। जिनका इलाज होम अइसोलेशन व कोविड सेंटरों में किया जा रहा है। सक्रिय मरीजों में से 214 लोगो को होम आइसोलेशन में रखा गया है। जबकि 19 मरीज विभिन्न कोविड सेंटरों में भर्ती किए गए है। सासाराम सदर अस्पताल में 13, बिक्रमगंज अनुमंडल अस्पताल में 02 अनुमंडलीय अस्पताल डेहरी में 03 तथा एनएमसीएच पटना में 01 मरीजों का इलाज चल रहा है।

सीएस ने कहा कि कोरोना संक्रमण पर लगाम लगाने के लिए जन-जन काे जागरूकता के साथ मास्क का इस्तेमाल करना होगा। खुद के साथ अन्य लोगों को भी अपनी सुरक्षा के प्रति जागरूक करने की जिम्मेदारी लेनी होगी। तभी हम कोरोना से जंग जीत पाएंगे। अबतक 199433 लोगों की हो चुकी है जांच: कोराेना संक्रमण के बढ़ते-घटते रफ्तार के बीच सरकारी स्तर पर जांच में भी तेजी ला दी गई है। डीएचएस के जिला अनुश्रवण एवं मूल्यांकन पदाधिकारी रितु राज ने बताया कि सरकारी स्तर से जिले में अबतक 199433 लोगो की कोरोना जांच की जा चुकी है। जिसमें से 5688 लोग पॉजिटिव पाए गए है। उक्त संक्रमित मरीजों में से 5474 लोगो ने कोरोना को मात दे दी है।वहीं 41 संक्रमित मरीजों ने अपनी जान भी गवां दी है।


Source link

About divyanshuaman123

Check Also

ऑक्सीजन पर पहरे से संकट और गहराया: निजी अस्पतालों को नहीं मिल रहे पर्याप्त सिलेंडर, प्रशासन ने ऐसे अस्पतालों को दी इलाज की अनुमति जहां व्यवस्था ही नहीं

ऑक्सीजन पर पहरे से संकट और गहराया: निजी अस्पतालों को नहीं मिल रहे पर्याप्त सिलेंडर, प्रशासन ने ऐसे अस्पतालों को दी इलाज की अनुमति जहां व्यवस्था ही नहीं

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप पटना3 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *