Sunday , April 18 2021
Breaking News

बच्चों में बढ़ी दिल की बीमारी पर अच्छी पहल; इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान में होगा मुफ्त ऑपरेशन, 15% का नहीं हो पाता टेस्ट

  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • IGIC Patna Offers Free Surgery For Children With Heart Disease : Indira Gandhi Heart Institute Patna News Update

पटना9 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

बिहार में दिल के सबसे बड़े अस्पताल इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान में जन्मजात हृदय रोग से पीड़ित बच्चों का मुफ्त इलाज किया जाएगा।

  • इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान में बच्चों के हृदय का होगा परीक्षण
  • बिहार में बच्चों में बढ़ती दिल की बीमारी को लेकर स्वास्थ्य विभाग की बड़ी पहल

अब जन्मजात हृदय रोगियों पर मोटी रकम नहीं खर्च होगी। बिहार में ऐसे बच्चों की सेहत को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने विशेष तैयारी की है। बिहार में दिल के सबसे बड़े अस्पताल इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान में भी जन्मजात हृदय रोग से पीड़ित बच्चों का मुफ्त इलाज किया जाएगा। राज्य स्वास्थ्य समिति ने इसके लिए प्लान तैयार कर लिया है। बुधवार से इस दिशा में बड़ी पहल की जा रही है। बिहार में ऐसे रोगियों की संख्या 15 प्रतिशत है, जिनका समय से परीक्षण नहीं हो पाता है। डॉक्टरों का कहना है कि बच्चों में सबसे अधिक वाल्ब में समस्या है। ऐसे मरीजों के परिजन काफी परेशान होते हैं और उनकी जेब पर बड़ा आर्थिक बोझ पड़ता है।

बुधवार से पटना में बड़ी पहल

राज्य स्वास्थ्य समिति ने आदेश जारी कर कहा है कि बुधवार से जांच का आयोजन किया जा रहा है। जन्म से हृदय की बीमारियों से जूझ रहे मरीजों के मुफ्त इलाज से प्रदेश के ऐसे हजारों बच्चों को काफी राहत मिलेगी। इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान में इसे लेकर बुधवार से शिविर लगाया जा रहा है। इसका मुख्य उद्देश्य जन्म से लेकर 18 वर्ष के बच्चों में जन्मजात हदृय रोगों की पहचान कर, जांच के बाद इलाज करना है। राज्य स्वास्थ्य समिति द्वारा इसके लिए प्रचार प्रसार भी किया जा रहा है। ऐसे बच्चों को शिविर में लाया जा सके जो हृदय की गंभीर बीमारियों का पैसे के अभाव में इलाज नहीं करा पा रहे हैं। राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में बिहार के विभिन्न जिलों से आए बच्चे को विशेष लाभ मिलेगा। बच्चों के इलाज पर होने वाले खर्च राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम अंतर्गत निर्धारित पैकेज से किया जाएगा।

नहीं हो पाती थी छोटे बच्चों के हार्ट की सर्जरी

बिहार में छोटे बच्चों के हृदय की बीमारी का इलाज ऑपरेशन से नहीं हो पाता था। ऐसे में परिजनों को उन्हें लेकर दिल्ली, मुम्बई या बंगलुरु जाना पड़ता था, लेकिन अब शल्य चिकित्सा आसान हो गई है। राज्य स्वास्थ्य समिति, बिहार और इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान के संयुक्त प्रयास से पटना में भी बच्चों के हृदय की सर्जरी होगी।


Source link

About divyanshuaman123

Check Also

पटना के बाद अब मगध में मौत का तांडव: गया में भर्ती मरीजों में से 5 की मौत, एक लाश की पहचान गुम, नालंदा में नूरसराय के युवा BDO की भी गई जान

पटना के बाद अब मगध में मौत का तांडव: गया में भर्ती मरीजों में से 5 की मौत, एक लाश की पहचान गुम, नालंदा में नूरसराय के युवा BDO की भी गई जान

Hindi News Local Bihar Corona Cases Toll Rises In Magadh Division After Patna; Nalanda BDO …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *