Thursday , April 15 2021
Breaking News

भाजपा के पूर्व विधायक ने कहा- मुकेश सहनी दो करोड़ में मुझे बेच रहे थे टिकट, वीआईपी का जवाब- तारकेश्वर कभी मिले ही नहीं

  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Mukesh Sahani Targeted By Bihar Baniyapur Former BJP MLA Over Tickets, Vikassheel Insaan Party (VIP) Hits Back At Tarkeshwar Singh

पटना2 मिनट पहलेलेखक: बृजम पांडेय

  • कॉपी लिंक

बनियापुर से भाजपा के पूर्व विधायक हैं तारकेश्वर सिंह।

  • बनियापुर के पूर्व विधायक तारकेश्वर सिंह ने कहा- मेरा टिकट काट कर वीआईपी को दे दिया, मुकेश सहनी से बात करने को कहा गया
  • मुकेश सहनी की पार्टी बोली- गलत कह रहे हैं तारकेश्वर, फ्रस्ट्रेशन में हैं, मुकेश सहनी से कभी नहीं मिले

महागठबंधन छोड़ एनडीए में आई विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के अध्यक्ष मुकेश सहनी पर बनियापुर से भाजपा के पूर्व विधायक तारकेश्वर सिंह ने दो करोड़ रुपए में टिकट बेचने का आरोप लगाया है। तारकेश्वर के अनुसार भाजपा ने उनका टिकट काट वीआईपी को सीट दे दी और मुकेश सहनी से मिलने को कहा। मिलने गए तो घूम-फिर कर दो करोड़ रुपए मांगे गए। दैनिक भास्कर डिजिटल टीम से लंबी बातचीत में तारकेश्वर ने जो पूरा घटनाक्रम बताया, वीआईपी ने उससे ही इनकार किया है। वीआईपी के अनुसार तारकेश्वर कभी उनसे मिले ही नहीं। भाजपा से नाराजगी और वीआईपी पर इस आरोप के बाद तारकेश्वर सिंह ने लोक जनशक्ति पार्टी ( लोजपा) का दामन थाम लिया है।

2015 चुनाव में भाजपा प्रत्याशी रहे तारकेश्वर सिंह 56 हजार वोट लाकर हार गए थे। इस बार चुनाव की सुगबुगाहट शुरू हुई तो ये भाजपा के बड़े नेताओं के पास गए। तारकेश्वर सिंह के मुताबिक बड़े नेताओं की सहमति लेकर बनियापुर विधानसभा से चुनाव की तैयारी में जुट गए। लेकिन ऐन वक्त पर बनियापुर विधानसभा सीट वीआईपी को दे दी गई। फिर यह तय किया गया कि तारकेश्वर सिंह को वीआईपी से चुनाव लड़ाया जाए और उन्हें कहा गया कि वीआईपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश सहनी से मिल लीजिए। तारकेश्वर कहते हैं, जब मैं मुकेश सहनी से मिलने गया तो सहनी ने मुझसे पैसों की डिमांड कर दी। वह भी एक से दो करोड़। मैं इस तरह का काम नहीं कर सकता था इसलिए लौट आया। अब मैंने लोजपा से टिकट लेकर बनियापुर से चुनाव लड़ने का निर्णय किया है।

तारकेश्वर सिंह ने भास्कर रिपोर्टर से क्या कहा?

भास्कर- क्या हुआ था आपके साथ?
तारकेश्वर सिंह- अच्छा जो यह पार्टी के साथ हुआ था, उसके बारे में पूछ रहे हैं?

भास्कर- हां-हां
तारकेश्वर सिंह-
वह लोग स्ट्रेटजी तैयार करके किए, एनीहाउ और प्रभुनाथ के इशारे पर ही किया गया।

भास्कर- भाजपा के इशारे पर किया?
तारकेश्वर सिंह-
और किन को कहा जा सकता है.. मान लीजिए टीम के लीडर वो लोग हैं तो वही लोग न किए हैं.. सब कुछ तय था.. हमको कांग्रेचुलेट कर दिए थे.. इससे ज्यादा क्या हो सकता है… 3 महीना पहले अध्यक्ष जी से मेरी कहीं मुलाकात हो गई.. मैं समझता हूं कि ऑफिस वगैरह में… हम तो बैठे थे, वह सडेनली आए और हम को बोलने लगे.. तारकेश्वर जी, आप यहां ऑफिस में… आप जैसा आदमी ऑफिस में तो आता नहीं है ..आप जहां रहते हैं वहां जाइए.. चुनाव नजदीक आ गया है ..अपनी तैयारी कीजिए। दो-दो बार सब लोगों ने कहा अपनी तैयारी में लगिए.. सिंबल सेंट्रल एक्शन कमिटी में तय हो गया है.. हमको कांग्रेचुलेट किए ..मोदी जी (सुशील मोदी) हमारे टीम के लीडर हैं.. मोदी जी ने मुझे कांग्रेचुलेट किया.. बोले चलिए बधाई हो.. तारकेश्वर जी, अबकी बार उम्मीद है कि ज्यादा से ज्यादा वोट से आप जीतकर आइएगा.. हमने धन्यवाद भी किया ..इससे ज्यादा क्या हो सकता है.. कुछ दिन के बाद सुन रहे हैं कि सीट चला गया इसको – उसको.. मुकेश सहनी को .इसके बाद हुआ कि वहां पर दोबारा बैठक बैठी.. उसमें भी हमारा नाम का चयन हो गया… सेंट्रल इलेक्शन कमिटी को रिपोर्ट गया कि यह विनिंग सीट है.. निश्चित रूप से तारकेश्वर जी सीट निकाल लेंगे… फिर वह लोग नाम तय करके भेजें …बाद में तय हुआ कि जब यह सीट उधर चला गया है ..तो कहा लोग कि हम लोग प्रेयर करेंगे कि अपना कैंडिडेट देंगे …लेकिन यह नहीं हुआ.. एक्चुअली हम लोग जनता के बीच में रहते हैं… ग्राउंड पर काम करते हैं.. हम लोगों को कोई रीजनल पार्टी कहे कि इतना लगेगा तो टिकट देंगे ..इट इज इंपॉसिबल फॉर मी..।

भास्कर- मुकेश सहनी ने आपसे डिमांड किया?
तारकेश्वर सिंह-
क्या कहा जाए ..आज तक जीवन में हमने ..हम लोग ऐसे उसूल वाले आदमी हैं.. लेकिन वह व्यक्ति मत पूछिए.. कहीं आपके साथ बैठेंगे टेबल पर तो बताएंगे।

भास्कर- आपसे कितना मांगा गया? मुकेश सहनी ने कितना आपसे डिमांड रखा?
तारकेश्वर सिंह-
अरे छोड़िए.. वह सब बात …हम लोग कल्पना भी नहीं कर सकते।

भास्कर- वो तो नैतिकता की बात करते हैं।
तारकेश्वर सिंह-
हद हो गया नैतिकता का तो.. यह लोग रीजनल पार्टी बना लेते हैं.. जात-पात के नाम पर… उसके बाद तो यह लोग शोषण न करता है.. अब मान लीजिए हम एक करोड़, दो करोड़, 3 करोड़, 4 करोड़ रुपया देकर टिकट लेते हैं.. उसके बाद एमएलए बनते हैं.. तो क्या करेंगे .. चोर ना बनेंगे.. ब्लॉक लूटेंगे ..मिड डे मील लूटेंगे.. जो सिस्टम है ..सिस्टम पर अटैक करेंगे ना.. हम लोग उस कल्चर के नहीं है.. वह स्वभाव नहीं है.. हम उनको प्रणाम बोल कर चले आए।

भास्कर- मुकेश सहनी से मुलाकात हुई थी?
तारकेश्वर सिंह
– हां हुई थी.. हमने कह दिया था.. यह हमसे संभव नहीं हो सकता है… जिसको टिकट चाहे वह दे दें।

भास्कर -आप लोजपा से चुनाव लड़ रहे हैं?
तारकेश्वर सिंह
– हां हम लोजपा के लिए काम करेंगे.. लोजपा से चुनाव लड़ेंगे.. फिर मजदूरी करेंगे.. जो होना होगा वह होगा.. हम लोग मजदूर आदमी है ना.. जिस पार्टी में रहेंगे उसके लिए मजदूरी करेंगे.. परिश्रम करेंगे.. परिणाम जो भी हो।

विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के अध्यक्ष मुकेश सहनी।

विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के अध्यक्ष मुकेश सहनी।

मुकेश सहनी नहीं, उनके राष्ट्रीय प्रवक्ता बोले- न मिले, न ही कोई बात हुई
भास्कर ने मुकेश सहनी से सीधे पूछना चाहा, लेकिन वह लाइन पर नहीं आए। ऐसे में उनके राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव मिश्रा से बात हुई। उन्होंने इस पूरे मामले का खंडन किया और कहा कि इस तरह की कोई बात नहीं हुई है। किसी भी तरह से तारकेश्वर सिंह से कोई संपर्क नहीं हुआ है। राजीव मिश्रा ने बताया उनके राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश सहनी से तारकेश्वर सिंह की कभी मुलाकात नहीं हुई है। तारकेश्वर सिंह को टिकट नहीं मिलने के कारण फ्रस्ट्रेशन है, इसलिए वह उल-जुलूल आरोप लगा रहे हैं।


Source link

About divyanshuaman123

Check Also

पटना में जान से खिलवाड़: न खुद की चिंता न दूसरों की परवाह, नियम तोड़कर बन रहे खतरा, संक्रमण की रफ्तार बढ़ी तो सख्त हुआ प्रशासन

पटना में जान से खिलवाड़: न खुद की चिंता न दूसरों की परवाह, नियम तोड़कर बन रहे खतरा, संक्रमण की रफ्तार बढ़ी तो सख्त हुआ प्रशासन

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप पटना7 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *