Sunday , April 18 2021
Breaking News

भाप लेना कोरोना संक्रमण से बचाव का उपाय नहीं, बहुत अधिक गर्म भाप लेने से शरीर के अंदरूनी हिस्सों के इंज्यूरी होने की संभावना

  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Nawada
  • Steam Is Not A Way To Prevent Corona Infection, Too Much Hot Steam Is Likely To Cause Injury To The Internal Parts Of The Body

नवादा2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

कोरोना संक्रमण का खतरा घटा जरूर है। लेकिन संक्रमण से बचाव के उपायों की अनदेखी खतरनाक है। बात बचाव के उपायों से संबंधित सूचनाओं की हो तो ध्यान रखें कि सोशल मीडिया के माध्यम से मिलने वाली सभी जानकारियां सही नहीं होती है। कोरोना संक्रमण से जुड़ी अफवाहें या गलत सूचनाएं नुकसानदेह साबित हो सकती हैं।

हाल ही में सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो में कुछ लोग संक्रमण से बचाव के लिए भाप लेते नजर आ रहे हैं। वायरल वीडियो कहां का है इसकी पुष्टि नहीं हो पा रही है। वीडियो के माध्यम से यह दावा किया जा रहा है कि संक्रमण से बचाव के लिए भाप लेना चाहिए। वीडियो के साथ फॉरवर्ड मैसेज में दावा किया गया है कि वायरस नाक से फेफड़ों तक पहुंचते हैं और भाप की मदद से नाक में ही छिपे वायरस को मार दिया जाना चाहिए।
स्वास्थ्य संगठनों ने सर्तक रहने की अपील की
सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो से कोरोना वायरस खात्मा के दावे की वैज्ञानिक पुष्टि स्वास्थ्य विभाग नहीं करता है। यदि आप तक ऐसे वीडियो या सूचनाएं पहुंचती हैं तो इसे खारिज कीजिए। सही तथ्यों की जानकारी के लिए परिवार कल्याण मंत्रालय, विश्व स्वास्थ्य संगठन, सेंटर फॉर डिज़ीज़ कंट्रोल एंड प्रिवेंशन या ऐसे ही विश्वसनीय माध्यमों की मदद लीजिए।

स्टीम थेरेपी की नहीं की गयी है वैज्ञानिक पुष्टि
विश्व स्वास्थ्य संगठन ने स्टीम थेरेपी यानी भाप लेने के विषय में ट्वीट कर जानकारी दी है कि यह कोविड 19 संक्रमण से बचाव का बिल्कुल भी उपाय नहीं है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि गर्म पानी में नमक डाल कर भाप लेने की इस विधि का कोरोना संक्रमण से कोई लेना देना नहीं है। बहुत अधिक गर्म पानी का भाप लेना खतरनाक है। इससे नाक व फेफड़ों के हिस्सों को बर्न इंज्यूरी हो सकती है। वहीं यह भी कहा है कि अभी तक इस रोग से बचाव के लिए कोई वैक्सिीन या इलाज नहीं निकाला जा सका है।

हाथों की नियमित धुलाई ही बचाव का सही रास्ता
भाप बंद नाक को खोलने में मददगार है। सर्दी के कारण नाक के म्यूकस को ढ़ीला कर भलीभांति सांस लेने में भाप लेना कारगर उपाय है। साइनस में भी भाप लेने की सलाह दी जाती है। लेकिन संक्रमण से बचाव के लिए भाप लेने जैसे उपाय अपनाया जाना कतई सही नहीं है। कोरोना संक्रमण से बचाव मास्क के इस्तेमाल, शारीरिक दूरी, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले खानपान लेकन, हाथों की साबुन से नियमित 40 सेकेंड तक धोने या सैनिटाइजर से हाथों को अच्छी तरह साफ करने जैसे उपायों को अपना कर ही किया जा सकता है।


Source link

About divyanshuaman123

Check Also

पटना में जाम से बचने का एक रास्ता और खुलेगा: इनकम टैक्स चौराहा गए बिना बीरचंद पटेल पथ से जा सकेंगे बेली रोड; 2.06 करोड़ से बनेगी चौड़ी सड़क

पटना में जाम से बचने का एक रास्ता और खुलेगा: इनकम टैक्स चौराहा गए बिना बीरचंद पटेल पथ से जा सकेंगे बेली रोड; 2.06 करोड़ से बनेगी चौड़ी सड़क

Hindi News Local Bihar Bihar News; Road Behind Vidyut Bhawan Connecting Beerchand Patel Path To …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *