Sunday , February 28 2021
Breaking News

मंत्री विनोद सिंह का विवादों से रहा है पुराना रिश्ता, कहा था- शहीद के घर जाने से क्या वह जिंदा हो जाएगा

  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • He Was The First Minister In The Nitish Government Who Demanded The Implementation Of NRC In Bihar, Saying There Are 40 Lakh Bangladeshi Infiltrators In Seemanchal.

पटना5 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

बिहार सरकार के मंत्री विनोद सिंह का सोमवार को दिल्ली के मेदांता अस्पताल में निधन हो गया।

  • नीतीश सरकार के वो पहले ऐसे मंत्री थे, जिन्होंने बिहार में एनआरसी लागू करने की मांग की थी, कहा था-सीमांचल में 40 लाख बांग्लादेशी घुसपैठिए हैं
  • एक समारोह में यह कहकर हंगामा खड़ा कर दिया था कि ‘भारत माता की जय’ का नारा न लगाने वाले मीडियाकर्मी पाकिस्तान के समर्थक हैं

बिहार सरकार के मंत्री विनोद सिंह का सोमवार को दिल्ली के मेदांता अस्पताल में निधन हो गया। तेज-तर्रार नेता कहे जाने वाले विनोद सिंह का विवादों से पुराना नाता रहा है। एक बार तो उन्होंने कह दिया था कि शहीद के घर जाने से क्या वह जिंदा हो जाएगा? मंत्री विनोद सिंह कई बार अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहे थे। नीतीश सरकार के वो पहले ऐसे मंत्री थे, जिन्होंने बिहार में एनआरसी लागू करने की मांग की थी। उन्होंने दावा किया था कि बिहार के सीमांचल इलाके में करीब 40 लाख बांग्लादेशी घुसपैठिए हैं जिसको लेकर बिहार में एनआरसी जरूरी है। यही नहीं, उन्होंने भाजपा के एक समारोह में यह कहकर हंगामा खड़ा कर दिया था कि ‘भारत माता की जय’ का नारा न लगाने वाले मीडियाकर्मी पाकिस्तान के समर्थक हैं। विनोद सिंह के इस बयान पर बिहार के सियासी गलियारों में खूब हंगामा हुआ था और विपक्ष ने जमकर उनपर बयानी हमले किए थे।

विनोद सिंह तब भी चर्चा में आए थे जब 3 जून 2019 को उन्हें खनन विभाग से हटाकर पिछड़ा-अति पिछड़ा विभाग का मंत्री बना दिया गया था। तब विनोद सिंह ने अपनी पार्टी के शीर्ष नेताओं की नीयत पर सवाल खड़े कर भाजपा को परेशानी में डाल दिया था। कहा था-1680 करोड़ का मुनाफा देने के बावजूद उनका विभाग क्यों बदल दिया गया, यह समझ से परे है। इसके बाद उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी से मुलाकात की थी। इस मुलाकात के बाद उनकी नाराजगी दूर हो गई थी। इसके बाद उन्होंने नए विभाग का पदभार ग्रहण किया था।

जम्मू-कश्मीर में जब भोजपुर का लाल शहीद हुआ था तो उसके अंतिम संस्कार में पहुंचे मंत्री विनोद सिंह ने जवान के घर जाने से इसलिए इनकार कर दिया कि वह लंबी दूरी की यात्रा करके आए हैं। उन्होंने कहा था कि उनके जाने से शहीद जिंदा नहीं हो जाएगा। देश की सेना आतंकवादियों पर कार्रवाई कर रही है और जल्द ही उसका परिणाम आएगा। मंत्री विनोद सिंह भोजपुर के प्रभारी मंत्री भी रहे हैं।


Source link

About divyanshuaman123

Check Also

टीबी की जांच में लापरवाही: माइक्रोस्कोपिक जांच में रिपोर्ट पॉजिटिव, ट्रूनेट मशीन में आई निगेटिव

टीबी की जांच में लापरवाही: माइक्रोस्कोपिक जांच में रिपोर्ट पॉजिटिव, ट्रूनेट मशीन में आई निगेटिव

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप मुजफ्फरपुर2 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *