Sunday , February 28 2021
Breaking News

महागठबंधन से बेआबरु होकर निकले सन ऑफ मल्लाह की भाजपा और रालोसपा से हो रही है बात

  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • The Son Of Mallah, Who Came Out Of The Mahagathbandhan, Is Talking To BJP And RLSP

पटना21 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मुकेश सहनी।

  • उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा-सहनी साथ आएंगे तो स्वागत है, राजद शुरू से अति पिछड़ा, दलित के साथ ऐसा व्यवहार करता रहा है
  • मुकेश सहनी को रालोसपा और भाजपा में से एक को चुनना होगा तो वे भाजपा को ही चुनेंगे

अब सन ऑफ मल्लाह मुकेश सहनी लोजपा की तरह अकेले दम पर चुनाव लड़ेंगे, इसकी बहुत कम उम्मीद है। वे महागठबंधन से बेआबरु होकर निकलने के बाद एनडीए की तरफ हाथ-पैर मार रहे हैं। भाजपा के नेताओं के साथ उनकी लगातार बात हो रही है। भाजपा उन्हें बतौर महागठबंधन का बागी मानते हुए चुनाव में इस्तेमाल कर सकती है। अति पिछड़ी जाति के साथ महागठबंधन का व्यवहार कैसा रहा, इसे भाजपा चुनाव में प्रचारित कर सकती है। राजद इसे बैलेंस करने के लिए अति पिछड़ों को देने वाली सीटों की संख्या बढ़ा सकती है, लेकिन सहनी को कुछ सीटें देकर अपनी तरफ लाने से भाजपा को एक फायदा यह होगा कि मुकेश सहनी घूम-घूम कर अति पिछड़ों के पक्ष में माहौल बनाएंगे।

सहनी की बात लगातार रालोसपा नेता उपेन्द्र कुशवाहा से भी हो रही है। उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि प्रेस कांफ्रेंस में मुकेश सहनी के दिल से जो दर्द निकला उसे देखकर पूरे बिहार के लोग स्तब्ध होंगे। मुझको भी काफी दुख हुआ। एक अति पिछड़ी जाति का व्यक्ति नेतृत्व करने की कोशिश कर रहा है तो उसके साथ किस तरह का व्यवहार राजद के लोग कर रहे हैं। अति पिछड़ी जाति के लोगों को आगे बढ़ने का अधिकार नहीं है क्या? राजद शुरू से अति पिछड़ा, दलित के साथ जो व्यवहार करता रहा है, उसी तरह का व्यवहार सहनी के साथ किया है। उपेन्द्र कुशवाहा ने साफ शब्दों में यह भी कहा कि मुकेश सहनी हमारे साथ चलेंगे तो उनका स्वागत है।

यानी मुकेश सहनी भाजपा या उपेन्द्र कुशवाहा दोनों में से किसी एक के साथ जा सकते हैं। सहनी अब से थोड़ी देर में प्रेस कांफ्रेंस करने वाले हैं और इसकी पूरी संभावना है कि वे राजद पर खुलकर बात करें। राजद ने उनके साथ कैसा-कैसा व्यवहार किया और उन्होंने किस-किस तरह से राजद को मदद की वह सब बताएंगे। वह भाजपा की तरफ जाएंगे या रालोसपा की तरफ यह भी साफ होगा। मुकेश सहनी को रालोसपा और भाजपा में से एक को चुनना होगा तो वे भाजपा को ही चुनेंगे।


Source link

About divyanshuaman123

Check Also

वसूली के पैसे के लिए थानेदार को पीटने दौड़ा ड्राइवर: दारोगा ने घबरा कर बड़े अधिकारी को फोन लगाया, कहा-हेल्लो सर, ड्राइवर बहुत बवाल कर रहा है

वसूली के पैसे के लिए थानेदार को पीटने दौड़ा ड्राइवर: दारोगा ने घबरा कर बड़े अधिकारी को फोन लगाया, कहा-हेल्लो सर, ड्राइवर बहुत बवाल कर रहा है

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप बक्सर32 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *