Thursday , February 25 2021
Breaking News

मांझी को नजर आए रामविलास में भारत रत्न, दिल्ली आवास को स्मारक बनाने के लिए भी लिखा राष्ट्रपति को पत्र

  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Manjhi Is Associated With JDU Amid Opposition From JDU’s LJP, LJP Candidate Is Going To Field Candidates Against JDU Candidates In Bihar Elections. Manjhi Said Ram Vilas Paswan Was And Will Remain An Inspiration For The Dalits And The Aboriginal

पटना8 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

जीतन राम मांझी की ओर से पासवान को ‘भारत रत्न’ देने की मांग के राजनीतिक मायने भी निकाले जा रहे हैं।

  • जदयू के लोजपा से विरोध के बीच मांझी जदयू से जुड़े हैं, बिहार चुनाव में जदयू उम्मीदवारों के खिलाफ लोजपा प्रत्याशी उतारने जा रही है
  • पूर्व मुख्यमंत्री और हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा- रामविलास पासवान दलितों और अभिवंचितों के लिए प्रेरणास्रोत थे और रहेंगे

कभी रामविलास पासवान के विरोधी रहे पूर्व मुख्यमंत्री और हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी को अब पासवान ‘भारत रत्न’ नजर आते हैं। मांझी ने राष्ट्रपति को पत्र लिख रामविलास पासवान को मरणोपरांत भारत रत्न देने की मांग की है। साथ ही उनके दिल्ली स्थित आवास को स्मारक बनाने का भी आग्रह किया है। जब तक पासवान जीवित थे तब तक मांझी उनके पाले में रहना नहीं चाहते थे। इस चुनाव के लिए गठबंधन के समय तक यही दिखा। जदयू के लोजपा से विरोध के बीच मांझी जदयू से जुड़े हैं।

बिहार चुनाव में जदयू उम्मीदवारों के खिलाफ लोजपा प्रत्याशी उतारने जा रही। संभव है कि लोजपा हम प्रत्याशियों के खिलाफ भी उम्मीदवार उतारे। ऐसे में जीतन राम मांझी की ओर से पासवान को ‘भारत रत्न’ देने की मांग के राजनीतिक मायने भी निकाले जा रहे हैं। मांझी शनिवार को गया के अपने सभी कार्यक्रम स्थगित कर रामविलास पासवान के अंतिम दर्शन करने उनके एसके पुरी स्थित आवास पहुंचे थे।

इस दौरान मांझी पत्रकारों से बातचीत करते हुए भावुक हो गए और कहा कि रामविलास पासवान दलितों एवं अभिवंचितों के लिए प्रेरणास्रोत थे और रहेंगे। मांझी ने कहा कि रामविलास पासवान ने रेल मंत्री के रूप में रेलवे स्टेशनों पर काम कर रहे कुलियों को स्थायित्व प्रदान किया। सुविधाएं देखकर कुलियों को मर्यादित किया। पूर्व में किसी रेल मंत्री ने ऐसा नहीं किया था। उनके इस काम से मेरे दिल में उनके प्रति प्रतिष्ठा काफी बढ़ गई थी और उनके उस कार्य से मैं उनका मुरीद हो गया। आज मैं दलितों के मसीहा की आत्मा के शांति के लिए प्रार्थना एवं अंतिम दर्शन को यहां आया हूं।


Source link

About divyanshuaman123

Check Also

कार्रवाई: हत्या के 6 साल से फरार आरोपी के घर की कुर्की

कार्रवाई: हत्या के 6 साल से फरार आरोपी के घर की कुर्की

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप बाराचट्टीएक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *