Friday , February 26 2021
Breaking News

स्वीकार कर लिया तेजस्वी यादव का नेतृत्व तो मिली मनमांगी सीटें, लालू यादव ने भी कुनबा एकजुट रख, ये स्वरूप देने में निभाई बड़ी भूमिका

  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Lalu Yadav Played Role In Uniting Mahagathbandhan Ahead Of Bihar Vidhan Sabha (Assembly) Election 2020

पटना21 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

गठबंधन में राजद की बड़े भाई की भूमिका रहेगी और तेजस्वी यादव के नेतृत्व में महागठबंधन  बिहार विधानसभा चुनाव लड़ेगा।

  • महागठबंधन को एकजुट रखने में और ये स्वरूप देने में राजद सुप्रीमो लालू यादव का हाथ है
  • रांची के जेल में बंद लालू यादव ने सभी दलों को समेटने में बड़ी भूमिका निभाई है

बिहार में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर महागठबंधन में सीटों का बंटवारा तय हो गया। महागठबंधन के घटक दलों में राजद 144 सीट, कांग्रेस 70 सीट, सीपीआई 6 सीट, सीपीएम 4 सीट और 19 सीटों पर सीपीआई माले चुनाव लड़ेगी। इस बंटवारे में वीआईपी के मुकेश सहनी को भी कुछ सीटें देने की बात हुई थी। लेकिन अंतिम मौके पर तेजस्वी यादव ने कहा कि वीआईपी और जेएमएम को वह अपने खाते से सीट देंगे। इतने पर ही मुकेश सहनी ने विरोध कर दिया और कहा कि मेरे पीठ पर छुरा मारा गया है।

राजद को अख्तियार करना पड़ा नरम रुख

चुनाव की अधिसूचना जारी होने से पहले से महागठबंधन में सीटों के बंटवारे पर बात चल रही थी। लगातार अंदरखाने से खबर यह आ रही थी राजद 150 सीट से कम पर चुनाव नहीं लड़ेगी और कांग्रेस को 58 से 60 सीटें ही दी जाएंगी। बात ये भी आ रही थी कि कांग्रेस 70 सीट से कम पर चुनाव नहीं लड़ेगी। सूत्र ये भी बता रहे थे कि यदि कांग्रेस को 68-70 सीटें देनी ही होती तो सीटों का बंटवारा पहले ही जाता। जब सीटों की घोषणा हुई तो कांग्रेस को 70 सीटें तो मिली, वहीं राजद को नरम रुख अख्तियार करते हुए 144 पर संतोष करना पड़ा।

रांची के जेल में बंद लालू यादव ने सभी दलों को समेटने में बड़ी भूमिका निभाई है।

रांची के जेल में बंद लालू यादव ने सभी दलों को समेटने में बड़ी भूमिका निभाई है।

बंटवारे से पहले चर्चा यह चल रही थी कि माले को 15 से 16 सीटें दी जाएंगी, वहीं तीन से चार सीटें सीपीआई और सीपीएम के लिए तय की गई थी। इसके बावजूद लेफ्ट पार्टियो को उनके मनमाफिक सीटें दी गई। सूत्र ये भी बताते है कि यदि माले को 15-16 सीटें भी दी जाती तो वो मान जाते। लेकिन लेफ्ट पार्टियों के प्रति भी राजद का रुख नरम रहा। राजद ने सीपीआई माले को 19 सीटें दी हैं। वहीं सीपीआई को 6 सीटें और सीपीएम को 4 सीटें दी हैं।

महागठबंधन को एकजुट रखने में राजद सुप्रीमो लालू यादव का हाथ है

बताया जा रहा है कि महागठबंधन को एकजुट रखने में और ये स्वरूप देने में राजद सुप्रीमो लालू यादव का हाथ है। रांची के जेल में बंद लालू यादव ने सभी दलों को समेटने में बड़ी भूमिका निभाई है। सूत्र बताते हैं लालू यादव ने महागठबंधन को एकजुट रखने के लिए तेजस्वी यादव को मैसेज भेजा था। जिसमें ये निर्देश दिया गया था कि पुराने घटक दल को साथ लेकर चलना है, चाहे थोड़ा नुकसान ही क्यों ना उठाना पड़े।

घटक दलों ने तेजस्वी यादव का नेतृत्व स्वीकार कर लिया

वहीं दूसरी तरफ सीटों के बंटवारे और तेजस्वी यादव के नेतृत्व को लेकर लगातार महागठबंधन में दरार पड़ती नजर आ रही थी। फिर महागठबंधन के घटक दलों के सामने राजद के तरफ प्रस्ताव आया कि उन्हें उनके मन मुताबिक सीटें दी जाएंगी यदि सभी तेजस्वी यादव का नेतृत्व मान लें तो। इस बाबत घटक दलों ने महागठबंधन को आगे बढ़ाने और बिहार में भाजपा और जदयू की सरकार हटाने के लिए तेजस्वी यादव का नेतृत्व स्वीकार कर लिया। जब सीटों का बंटवारा हो रहा था तो कांग्रेस के स्क्रीनिंग कमिटी के चेयरमैन अविनाश पाण्डेय ने कहा कि तेजस्वी यादव युवा हैं, उनमें बिहार को ऊंचाई तक ले जाने का जज्बा है। इस गठबंधन में राजद की बड़े भाई की भूमिका रहेगी और तेजस्वी यादव के नेतृत्व में महागठबंधन बिहार विधानसभा चुनाव लड़ेगा।


Source link

About divyanshuaman123

Check Also

बदल देना चाहिए राजेंद्र नगर टर्मिनल का नाम: कर देना चाहिए कंकड़बाग टर्मिनल, रास्ता बंद होने की वजह से लोगों को घूम कर जाना पड़ता है

बदल देना चाहिए राजेंद्र नगर टर्मिनल का नाम: कर देना चाहिए कंकड़बाग टर्मिनल, रास्ता बंद होने की वजह से लोगों को घूम कर जाना पड़ता है

Hindi News Local Bihar Bihar News; People Facing Problem In Rajendra Nagar Terminal Area Road …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *