Thursday , April 15 2021
Breaking News

1 से नगर की गलियों में सफाई कर्मियों का नहीं बजा ह्विसिल, नहीं उठ रहा कचरा

बिक्रमगंज सदर6 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • सड़क के किनारे या गलियों में रखे हुए डस्टबिन से अब दुर्गंध निकलना शुरू हो गया है

1 अक्टूबर से नगर परिषद बिक्रमगंज के सफाई कर्मियों के हड़ताल पर चले जाने की वजह से हर रोज सुबह में गलियों में बजने वाला ह्विसिल बंद हो गया है। जिसकी वजह से डोर टू डोर उठने वाले कचरे नहीं उठाए जा रहे हैं। सड़क के किनारे या गलियों में रखे हुए डस्टबिन से अब दुर्गंध निकलना शुरू हो गया है। क्योंकि प्रत्येक रोज डस्टबिन में नियत समय में लोग घर का या दुकान का कचरा डाल दिया करते हैं।

नगर का ऐसा कोई गली एवं मोहल्ला नहीं बचा है। जहां पर कचरा नहीं लगा हो वैसे सड़क पर रखे हुए डस्टबिन एवं जगह-जगह हर रोज उठने वाले कचरे के पास तो कचरे का अंबार लगा हुआ है। नगर की सफाई कर्मियों के द्वारा समय से पैसा बढ़ाने की मांग को लेकर हड़ताल किया गया है। वहीं दूसरी तरफ नगर की इओ प्रेम स्वरूपम ने बताया कि कर्मियों को भुगतान के दौरान कटने वाले इपीएफ को लेकर कर्मी विवाद खड़ा किए हैं। जो नियम के विरुद्ध में है।

सड़कों पर लगा कचरे का अंबार
1 अक्टूबर से नगर के सफाई कर्मियों के हड़ताल की वजह से सड़कों पर लगने वाले झाड़ू एवं गली-गली एवं सड़क के किनारे से प्रत्येक रोज उठने वाले कचरे अब जगह जगह ढेर जमा हो गए हैं। आरा रोड में जयराम होटल के निकट नासरीगंज रोड में जय बजरंग के निकट उसी तरह सासाराम रोड में जगह जगह रखे हुए डस्टबिन ने कचरा पड़ा हुआ है। जिसका उठाव नहीं हो पा रहा। सफाई कर्मियों ने समय पर राशि की भुगतान एवं मजदूरी बढ़ाने की बात को लेकर हड़ताल पर हैं।
सफाईकर्मियों से की जा रही है वार्ता
नगर की ईओ प्रेम स्वरूपम ने कहा कि सफाई कर्मियों से लगातार वार्ता की जा रही है। उन लोगों के द्वारा सरकार के द्वारा लेबर एक्ट के तहत कटने वाले ईपीएफ पर बात किया जा रहा है। जो तर्कसंगत नहीं है। वैसे बहुत जल्द सभी सफाई कर्मी कार्य पर लौट जाएंगे।

सफाईकर्मियों ने सड़क पर फेंक दिया कचरा
सफाई कर्मियों के द्वारा अपनी मांग के समर्थन में तेंदुनी चौक के आसपास सड़क पर रखे हुए डस्टबिन के कचरे को फेंक दिया। जिसकी वजह से चमचमाती सड़क पर कचरा जम गए। वैसे सफाई कर्मियों का आरोप है कि जिस तरह सफाई हमलाेग करते हैं उस तरह मेहनताना भी भुगतान समय पर किया जाए एवं पैसे बढ़ाए जाएं। ऐसा नहीं किया गया तो आंदोलन तेज होगा।


Source link

About divyanshuaman123

Check Also

प्रो. अरूण कुमार का बनारस में होगा दाह संस्कार: पूर्व सभापति के पार्थिव शरीर को विधान परिषद् नहीं ले जाया जाएगा, 41 सालों तक रहे थे MLC

प्रो. अरूण कुमार का बनारस में होगा दाह संस्कार: पूर्व सभापति के पार्थिव शरीर को विधान परिषद् नहीं ले जाया जाएगा, 41 सालों तक रहे थे MLC

Hindi News Local Bihar Former Legislative Council Member Arun Kumar Passes Away In Patna; Last …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *