Sunday , May 16 2021
Breaking News

कर्फ्यू वाले महाराष्ट्र के 5 शहरों की रिपोर्ट: थम गई मुंबई और पुणे की रफ्तार, नागपुर में जमकर टूटे नियम; औरंगाबाद में पाबंदी के खिलाफ सड़कों पर उतरे व्यापारी

  • Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Maharashtra Curfew; Mumabi Pune Lockdown News | Dainik Bhaskar Ground Report From Mumbai Nagpur Aurangabad And Nashik

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई12 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

गुरुवार की यह तस्वीर मुंबई के लोकमान्य तिलक टर्मिनस स्टेशन के बाहर की है। एक बुजुर्ग को उसके परिवार के कुछ लोग स्टेशन के अंदर ले जा रहे हैं।

संक्रमण की बढ़ती रफ्तार को धीमा करने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने ‘ब्रेक द चेन’ शुरू किया है। आज इसका पहला दिन है और मुंबई, पुणे और नागपुर समेत राज्य के कई शहरों में इसका असर देखने को मिल भी रहा है। हालंकि, पहले बार के लॉकडाउन की तरह इस बार सख्ती नहीं दिख रही है। लगभग हर शहर में पुलिसकर्मी सड़कों पर तैनात हैं और बिना काम के बाहर घूमने वालों पर कार्रवाई कर रहे हैं।

पहला दिन होने के नाते कई जगह लोगों को समझा कर घर लौटा दिया जा रहा है। इस बीच कई शहरों से आज भी रेमडेसिवीर खरीदने के लिए लाइन में लोग लगे हुए नजर आये।

आज हम आपकों महाराष्ट्र के 5 बड़े शहरों में लगे कर्फ्यू जैसे हाल की तस्वीरें दिखाने का रहे हैं।

मुंबई: सुबह 10 बजे तक यहां की सड़कों पर थोड़ी भीड़ देखने को मिली। पुलिस के मुताबिक, इनमें से ज्यादातर लोग अतिआवश्यक सेवाओं से जुड़े लोग थे। हालांकि, दिन चढ़ने के साथ भीड़ कम होती गई। संचारबंदी के बावजूद पब्लिक ट्रांसपोर्ट यानी ट्रेन, बेस्ट बस, ऑटो, काली-पीली टैक्सी और ST बसें चल रही हैं। मुंबई की लाइफलाइन यानी लोकल ट्रेन में भी कम यात्री देखने को मिले। जो थे, वे भी दूर-दूर बैठे नजर आये।

यह तस्वीर मुंबई के CSMT स्टेशन के बाहर की है। आम दिनों में यहां भारी भीड़ नजर आती है।

यह तस्वीर मुंबई के CSMT स्टेशन के बाहर की है। आम दिनों में यहां भारी भीड़ नजर आती है।

सरकार की सख्ती और कोरोना के डर की वजह से मुंबई के भीड़ वाले दादर, माटुंगा, अंधेरी, ग्रांट रोड, वर्ली, कुर्ला, भिंडी बाजार, घाटकोपर और मस्जिद बंदर जैसे इलाकों में सड़कें सुनसान पड़ी हुई हैं। बिना काम के बाहर निकलने वालों का न सिर्फ चालान काटा जा रहा है, बल्कि कई जगह गाड़ियों को जब्त भी किया गया है। समुद्री बीचों पर पुलिस के अलावा भारी संख्या में BMC के मार्शल तैनात हैं।

मुंबई की लोकल ट्रेन में इक्कादुक्का लोग बैठे हुए नजर आये।

मुंबई की लोकल ट्रेन में इक्कादुक्का लोग बैठे हुए नजर आये।

इस्टर्न और वेस्टर्न एक्सप्रेसवे पर ट्रक और प्राइवेट जरुर दिखे, लेकिन सभी लगभग अतिआवश्यक सेवाओं से जुड़े ही थे। हाईवे पर पुलिस की गाड़ियां और एम्बुलेंस दौड़ती हुई नजर आईं। आम दिनों में यहां वाहनों की लंबी कतार देखने को मिलती है। कई बार तो 2 से 5 घंटे तक का जाम भी लग जाता है।

पुणे में एक रेस्टोरेंट के बाहर शिव भोजन थाली खरीदने के लिए लंबी कतार लगी।

पुणे में एक रेस्टोरेंट के बाहर शिव भोजन थाली खरीदने के लिए लंबी कतार लगी।

पुणे: कर्फ्यू के बावजूद शहर के मार्केटयार्ड मंडी में आज भी थोड़ी भीड़ नजर आई। लोग किराने का सामान और सब्जियां खरीदने के लिए यहां पहुंचे हुए थे। हालांकि, सभी के चेहरे पर मास्क लगा था। आम दिनों में जिस शनिवार, रविवार और बुधवार पेठ इलाके में पैर रखने की जगह नहीं होती हैं, वहां भी सड़कों पर इक्कादुक्का गाड़ियां ही नजर आईं। पुणे के बनेर, औंध, हड़पसर, खराड़ी, विमाननगर और पिंपरी चिंचवाड़ के हिंजेवाड़ी इलाके में भी सड़कों पर ट्रैफिक न के बारमर दिखा। जगह-जगह चेक पोस्ट पर गाड़ियों की चेकिंग की जा रही थी। इनके अलावा शहर की ज्यादातार सड़कों पर दोपहर के समय लगभग सन्नाटा नजर आया और हर चौराहे पर भारी संख्या में पुलिस बल जांच करते दिखे

जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करते मरीजों के परिजन।

जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करते मरीजों के परिजन।

रेमडेसिवीर इंजेक्शन खरीदने के लिए भारी संख्या में लोग केमिस्ट्री शॉप के बाहर आज भी कतार लगाकर खड़े नजर आये। इंजेक्शन नहीं मिलने से नाराज 50 से ज्यादा लोगों ने आज जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर बैठकर प्रदर्शन भी किया। हालांकि इस दौरान वे सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान भी लगातार रख रहे थे। पुणे कलेक्टर ऑफिस पर धरना दे रही एक महिला ने कहा कि उनके पिता छह दिन से अस्पताल में हैं और आईसीयू में भर्ती हैं। वो ना सिर्फ पुणे बल्कि आसपास के शहरों में भी रेमडिसिविर तलाश चुकी हैं लेकिन दवाएं नहीं मिल रही हैं। ऐसे में हम यहां आए हैं।

नागपुर के कॉटन मार्केट चौराहे पर हर दिन की तरह भीड़ देखने को मिली।

नागपुर के कॉटन मार्केट चौराहे पर हर दिन की तरह भीड़ देखने को मिली।

नागपुर. यहां राज्य के अन्य हिस्सों के मुकाबले बंद बेअसर नजर आ रहा है। शहर में 2200 पुलिसकर्मियों की तैनाती की बात कही गई थी, इसके बावजूद कुछ बड़े चौराहों और हॉस्पिटल के बाहर छोड़ इक्का दुक्का पुलिसकर्मी ही नजर आये। नागपुर की तीनों बड़ी मंडियां खुली हुई हैं और यहां भारी भीड़ नजर आ रही है। जिला प्रशासन की ओर से 500 होम गार्ड्स की तैनाती का भी दावा किया गया है।

नागपुर के सीए रोड के एक चौराहे पर नजर आई भीड़ की तस्वीर।

नागपुर के सीए रोड के एक चौराहे पर नजर आई भीड़ की तस्वीर।

नागपुर के कॉटन मार्केट सब्जी मंडी में आज भी भारी भीड़ देखने को मिली है। सोशल डिस्टेंसिंग के नियम तोड़ते हुए लोग सब्जी खरीदने पहुंचे थे।

औरंगाबाद के चार इलाकों में व्यापारियों ने प्रोटेस्ट किया।

औरंगाबाद के चार इलाकों में व्यापारियों ने प्रोटेस्ट किया।

औरंगाबाद: शहर में सिर्फ दूध, किराना और मेडिकल की दुकानों को खोलने का आदेश जिलाधिकारी द्वारा दिया गया है। इसके खिलाफ औरंगाबाद में बलिराम पाटिल रोड, चिशिया पुलिस स्टेशन, अविष्कार चौक और अविष्कार कॉलोनी पर व्यापारियों का प्रोटेस्ट देखने को मिला। सड़क पर मानव श्रृंखला बनाकर व्यापरियों ने प्रदर्शना किया। इस दौरान उनके हाथ में पोस्टर और चेहरे पर मास्क था। हालांकि, यहां पुलिस मुस्तैद और सड़कों पर भीड़ गायब नजर आई।

औरंगाबाद के भीड़ वाले उस्मानपुर इलाके में सडकों पर सन्नाटा देखने को मिला।

औरंगाबाद के भीड़ वाले उस्मानपुर इलाके में सडकों पर सन्नाटा देखने को मिला।

नासिक: शहर में लॉकडाउन का मिलाजुला असर देखने को मिला। यहां सड़कों पर गाड़ियां नजर आईं, लेकिन रोजाना के मुकाबले भीड़ कम थी। वैक्सीनेशन सेंटर पर भी लोगों की भारी भीड़ देखने को मिली। कई जगहों पर चौराओं पर पुलिसकर्मी गाड़ियों को रोक कर चेकिंग करते हुए नजर आये।

नासिक के वैक्सीनेशन सेंटर के बाहर जमा लोगों की भीड़।

नासिक के वैक्सीनेशन सेंटर के बाहर जमा लोगों की भीड़।

नासिक के कई हॉस्पिटल में आज ऑक्सीजन की भारी कमी भी देखने को मिल रही है। कई हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की कमी का हवाला देते हुए मरीजों को भर्ती करने से मना कर दिया है।

खबरें और भी हैं…

Source link

About divyanshuaman123

Check Also

राजस्थान के गांवों से दूसरी ग्राउंड रिपोर्ट: पाली और बांसवाड़ा के आदिवासी गांवों में अफवाह; घर के युवाओं ने वैक्सीन ली तो बच्चे पैदा नहीं कर सकेंगे, बुजुर्ग मर जाएंगे

राजस्थान के गांवों से दूसरी ग्राउंड रिपोर्ट: पाली और बांसवाड़ा के आदिवासी गांवों में अफवाह; घर के युवाओं ने वैक्सीन ली तो बच्चे पैदा नहीं कर सकेंगे, बुजुर्ग मर जाएंगे

Hindi News National Coronavirus Vaccine Baby Birth Rumours; Rajasthan News | Dainik Bhaskar Ground Report …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *