Sunday , May 16 2021
Breaking News

सदर अस्पताल में तड़प-तड़पकर किशोर ने दम तोड़ा: चैती छठ में अर्घ्य देने के दौरान फिसलने से नदी में डूबा, अस्पताल में ड्यूटी पर नहीं थे डॉक्टर; आक्रोशित परिजनों ने मचाया बवाल

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

शेखपुरा5 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
सदर अस्पताल में शोहित के शव को लेकर रोते-बिलखते परिजन। - Dainik Bhaskar

सदर अस्पताल में शोहित के शव को लेकर रोते-बिलखते परिजन।

  • सदर अस्पताल में डॉक्टर के अभाव में 3 घंटे तक तड़पता रहा किशोर
  • रामरायपुर समीप शेखपुरा-बरबीघा मुख्य मार्ग को लोगों ने जाम किया

शेखपुरा में सदर अस्पताल की लचर व्यवस्था ने एक किशोर की जान ले ली। रामरायपुर गांव में चैती छठ के अर्घ्य के दौरान एक किशोर फिसलकर नदी में जा गिरा। जिसे काफी मशक्कत के बाद ग्रामीणों ने उसे निकालकर सदर अस्पताल लाया। अस्पताल में तकरीबन 3 घंटे इंतजार के बाद भी कोई डॉक्टर या नर्स नहीं पहुंचे, जिसके कारण उसने तड़प-तड़पकर अस्पताल में ही दम तोड़ दिया। घटना के बाद आक्रोशित परिजनों एवं ग्रामीणों ने जमकर बवाल काटा। इस दौरान सदर अस्पताल के कर्मियों ने सदर अस्पताल के गेट को बंद कर दिया। बावजूद इसके भीड़ गेट पर धक्का-मुक्की करती रही। आक्रोशित भीड़ को देखते हुए अस्पताल के कर्मियों ने भागकर अपनी जान बचाई। सदर अस्पताल में करीब 1 घंटे तक हंगामा जारी रहा लेकिन, कोई भी अधिकारी ने सुध लेना मुनासिब नहीं समझा, जिससे लोगों का गुस्सा और भड़क गया और उन्होंने तोड़फोड़ मचाना शुरु कर दिया। मृतक की पहचान रामरायपुर गांव निवासी विनोद यादव के पुत्र शोहित कुमार (14 वर्ष) के रूप में की गई है।

जाम के दौरान आक्रोशित परिजन और स्थानीय लोग।

जाम के दौरान आक्रोशित परिजन और स्थानीय लोग।

पुलिस ने किया लाठीचार्ज तो ग्रामीणों ने पथराव कर खदेड़ा
आक्रोशित परिजनों ने किशोर के शव के साथ DM आवास के बाहर हंगामा मचाना शुरू कर दिया। इस दौरान शव को रामरायपुर गांव के पास NH 33 A शेखपुरा- बरबीघा मुख्य पथ पर रखकर जाम कर दिया। इससे यातायात पूरी तरह से बाधित हो गया। वहीं, जाम की सूचना पर पहुंची पुलिस ने एकाएक भीड़ पर लाठीचार्ज शुरू कर दिया, जिसमें कई ग्रामीण जख्मी हो गए। इसके बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस पर ईंट-पत्थर से हमला कर दिया। ग्रामीणों के द्वारा किये हमले से अपनी जान बचाने के पुलिस को भागना पड़ा। मौके पर पहुंचकर SDPO सुरेंद्र कुमार सिंह, BDO मंजुल मनोहर मधुप, CO सहित विभिन्न थानों की पुलिस लोगों के समझाने बुझाने में जुट गई।

रोते-बिलखते परिजन।

रोते-बिलखते परिजन।

अर्घ्य देने में नदी में फिसलकर गिरा शोहित
ग्रामीणों ने बताया कि चैती छठ के दूसरे अर्घ्य देने के दौरान सोमवार की सुबह शोहित रामरायपुर गांव स्थित टाटी नदी गया हुआ था। इसी क्रम में किशोर का पैर फिसल गया और वह नदी में जा गिरा। परिजनों की शोरगुल सुनकर गांव के कई युवक नदी में कूदे और काफी मशक्कत के बाद उसे खोज कर निकाला। जिसके बाद उसे सदर अस्पताल लाया गया। उसकी सांसें चल रही थीं। लेकिन सदर अस्पताल में किसी भी डॉक्टर की मौजूदगी नहीं था और परिजन लगातार इलाज करने का को कह रहे थे। वहीं, डॉक्टर नहीं रहने के कारण की वजह से किशोर का इलाज नहीं शुरू किया जा सका और लगभग 3 घंटे के बाद किशोर ने तड़प-तड़प कर अपनी जान दे दी।

NH 33 A शेखपुरा- बरबीघा मुख्य पथ पर जाम का नजारा।

NH 33 A शेखपुरा- बरबीघा मुख्य पथ पर जाम का नजारा।

ग्रामीणों ने सामूहिक आत्मदाह की दी धमकी
हंगामा मचा रहे ग्रामीण संजय कुमार शर्मा ने कहा कि पूरे जिले में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है और इसका जिम्मेवार सिर्फ डीएम है। डीएम द्वारा भ्रष्ट नीति अपनाने के कारण सदर अस्पताल की व्यवस्था लचर हो गई है। इलाज के बजाए सभी डॉक्टर सदर अस्पताल से फरार रहते है। जिसके कारण आज इलाज के अभाव में किशोर की मौत हो गई है। उन्होंने कहां की डीएम पहले कोरोना काल में जमकर लूट का खसोट मचाया था और अब सदर अस्पताल का रुपया लूटा जा रहा है जिसके कारण दिन प्रतिदिन सदर अस्पताल की व्यवस्था बिगड़ती जा रही है। इस दौरान ग्रामीणों ने डीएम आवास के समक्ष शव रख जमकर डीएम के विरोध में नारेबाजी की।

खबरें और भी हैं…

Source link

About divyanshuaman123

Check Also

उफ! इतनी निर्ममता: 25 वर्षीया युवती की गला दबाकर हत्या की फिर सिर को तेजाब से जलाया, लाश को चील-कौए को खाने के लिए फेंक दिया

उफ! इतनी निर्ममता: 25 वर्षीया युवती की गला दबाकर हत्या की फिर सिर को तेजाब से जलाया, लाश को चील-कौए को खाने के लिए फेंक दिया

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप चकाई/जमुई10 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *